Stock Market -आज बिकवाली के मूड में दिख रहा मार्केट, निवेश से पहले इन फैक्‍टर्स पर जरूर रखें निगाह

कच्चे तेल की कीमत में लगातार उछाल आ रही है जिसकी वजह से बड़े-बड़े देशों के बाजार पर भी इसका दबाव दिख रहा है। कच्चे तेल की ऊंची कीमत से अमेरिका और यूरोपीय बाजार दबाव में हैं और इसका असर पूरी दुनिया में पड़ेगा। आपको बता दें कि ग्लोबल मार्केट के दबाव में भारतीय शेयर बाजार में भी बिकवाली हावी रह सकती है इसका अंदाजा एक्सपर्ट्स ने स्थिति को देखकर लगाया है। तो आगे आई है इसी विषय के बारे में विस्तार से चर्चा करते हैं।

कच्चे तेल की कीमत में लगातार उछाल आ रही है जिसकी वजह से बड़े-बड़े देशों के बाजार पर भी इसका दबाव दिख रहा है। कच्चे तेल की ऊंची कीमत से अमेरिका और यूरोपीय बाजार दबाव में हैं और इसका असर पूरी दुनिया में पड़ेगा। आपको बता दें कि ग्लोबल मार्केट के दबाव में भारतीय शेयर बाजार में भी बिकवाली हावी रह सकती है इसका अंदाजा एक्सपर्ट्स ने स्थिति को देखकर लगाया है। तो आगे आई है इसी विषय के बारे में विस्तार से चर्चा करते हैं।

Stock Market -आज बिकवाली के मूड में दिख रहा मार्केट, निवेश से पहले इन फैक्‍टर्स पर जरूर रखें निगाह 99 Hindi

नई दिल्ली:

पूरी दुनिया में कच्चे तेल की कीमत में उछाल आने से इसका प्रभाव दिख रहा है पिछले कुछ दिनों में भारत में भी कच्चे तेल के दामों में काफी तेजी आई है इसका प्रभाव  शेयर बाजार पर भी दिख रहा है। एक्सपर्ट्स की माने तो भारतीय शेयर बाजार इस हफ्ते की शुरुआत बिकवाली से कर सकता है। ग्लोबल फैक्टर्स के दबाव में शेयर बाजार फिर मुनाफावसूली की ओर बढ़ सकता है।

एक्सपर्ट्स की माने तो आज ग्लोबल मार्केट के दबाव में निवेशकों पर भी बिकवाली हावी हो सकता है और वह मुनाफावसूली की तरफ बढ़ सकते हैं।इससे पहले पिछले सप्‍ताह के आखिरी दिन सेंसेक्‍स 223 अंक गिरकर 57,362 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 70 अंकों के नुकसान के साथ 17,153 पर बंद हुआ था।

अमेरिकी बाजार में भी दिखी गिरावट

पिछले 1 महीने से भी ज्यादा से रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है और इसका प्रभाव पूरे विश्व की बाजार में लिखा है। रूस यूक्रेन के युद्ध के वजह से कच्चे तेलों के दाम में अभी $115 प्रति बैरल तक बने हुए हैं। इसका प्रभाव अमेरिकी और यूरोपीय शेयर बाजार में काफी दिखा है।अमेरिका के प्रमुख स्‍टॉक एक्‍सचेंज Nasdaq पर 0.16 की गिरावट दिखी है। अभी आगे इसका प्रभाव पूरे एशियाई बाजार में भी दिखेगा।

यूरोपीय बाजार का मिलजुला रुख

लंदन स्टॉक एक्सचेंज पर 0.21 फ़ीसदी की बढ़ोतरी की है। वही आपको बता दें कि जर्मनी के स्टॉक एक्सचेंज में 0.22 फ़ीसदी की वृद्धि दिखी है वहीं फ्रांस के स्टॉक एक्सचेंज में 0.03 की गिरावट देखी गई है। इससे हम कह सकते हैं कि यूरोपीय बाजार में इसका प्रभाव मिलाजुला रुख देखने को मिला हैं।

एशियाई बाजार नुकसान पर खोलें

एशियाई बाजारों में सिंगापुर को छोड़कर सभी शेयर बाजार पर नुकसान पर ट्रेडिंग करते दिखाई दे रहे हैं। वहीं आपको बता दे कि सिंगापुर के स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर जहां 0.02 फीसदी की बढ़त दिख रही है, वहीं जापान के निक्‍केई पर 0.79 फीसदी की गिरावट है।

इसके अलावा हांगकांग स्टॉक एक्‍सचेंज पर 0.58 फीसदी और ताइवान में 1.5 फीसदी की गिरावट दिख रही है। साउथ कोरिया में भी 0.49 फीसदी और चीन के शंघाई कंपोजिट पर 1.29 फीसदी की गिरावट दिखी है।

Conclusion:

तो दोस्तों हमारा यह लेख अगर आपको पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और कमेंट में बताएं कि हमारा आलेख आपको कैसा लगा।

धन्यवाद

Previous articleStock Market: बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 388 अंक गिरा, निफ्टी भी 17,600 के नीचे
Next articleश्रीलंका में आर्थिक संकट का असर, हफ्ते भर स्टॉक एक्सचेंज में ठप रहेगा कारोबार