NFT kya hota hai – क्या है ये नई चीज और कैसे इससे पैसा कमाते है

आज हम बात करेंगे NFT kya hota hai , आखिर क्या है NFT, एनएफटी का पूरा नाम, एनएफटी को किसे इस्तमाल किया जाता है,कहा और कैसे बेच सकते हैं एनएफटी और एनएफटी की खासियत आप में से कई लोगों को एनएफटी के बारे में पता नहीं होगा अगर आप भी उन लोगों में से एक है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको NFT की पूरी जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

आज हम बात करेंगे NFT kya hota hai , आखिर क्या है NFT, एनएफटी का पूरा नाम, एनएफटी को किसे इस्तमाल किया जाता है,कहा और कैसे बेच सकते हैं एनएफटी और एनएफटी की खासियत आप में से कई लोगों को एनएफटी के बारे में पता नहीं होगा अगर आप भी उन लोगों में से एक है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको NFT की पूरी जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

NFTs यानी की नॉन फंजिबल टोकन (Non-Fungible Tokens) एक तरह का डिजिटल एसेट या डेटा होता है, और इसे ब्लॉकचेन पर रिकॉर्ड किया जाता है. NFT एक तरह का डिजिटल टोकन होता है. इसमें आप इमेज, गेम, वीडियो, ट्वीट किसी को भी NFT में बदलकर मॉनेटाइज कर सकते हैं. इसमें खास यह है कि, इन डिजिटल एसेट को क्रिप्टोकरेंसी के जरिए ही खरीदा और बेचा जाता है. नॉन फंजिबल टोकन काफी यूनिक है, क्योंकि इसका एक यूनिक आईडी कोड होता है इसलिए दो NFT कभी भी आपस में मैच नहीं कर सकते हैं. इसके साथ ही उनको डुप्लीकेट भी नहीं बनाया जा सकता है.

NFT kya hota hai

NFT kya hota hai 

NFT बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टोकरेंसी जैसा ही एक क्रिप्टो टोकन है। ये एक यूनिक टोकन्स या डिजिटल असेट्स होते हैं, जो वैल्यू को जनरेट करते हैं। NFT डिजिटल संपत्ति जैसे डिजिटल आर्ट, म्यूजिक, फिल्म, गेम्स या आपको किसी कलेक्शन में मिल सकता है। ये यूनिक आर्ट पीस होते हैं और इसका हर टोकन अपने आप में यूनिक होता है। NFT को थर्डपार्टी की  मदद के बिना ऑनलाइन क्रिएट किया जा सकता है,रखा जा सकता है और ट्रेड किया जा सकता है। ब्लॉकचेन एक ऐसा डेटाबेस है, जहां जानकारी/सूचना ब्लॉक्स में स्टोर रहती है। ब्लॉक्स एक चेन के जरिए आपस में जुड़े रहते हैं।

NFT का इस्तेमाल डिजिटल आर्ट और डिजिटली मौजूद चीजों के लिए हो रहा है। फंजिबल का अर्थ है कि दो चीजें आपस में इंटरचेंजेबल हैं, जैसे कि 100 रुपये के नोट। डिजिटल आर्ट भी अनलिमिटेड हो सकती हैं और एक डिजिटल आर्ट की कई कॉपी बनाई जा सकती हैं। लेकिन NFT का इस्तेमाल कर एक आर्टिस्ट एक कॉपी को ओरिजिनल करार दे सकता है। यही वजह है कि बीपल नाम के आर्टिस्ट के कोलाज ‘Everydays–The First 5000 Days’ की लाखों कॉपीज में से एक ओरिजिनल कॉपी एक नीलामी के दौरान 517 करोड़ रुपये में बिकी। नॉन फंजिबल को यूनीक भी कह सकते हैं। NFT की मदद से बीपल ने अपने ओरिजनल आर्टवर्क को ओरिजनल साबित किया।

NFT का पूरा नाम 

NFT का पूरा नाम नॉन फंजिबल टोकन है।  इसे एक क्रिप्टोग्राफिक टोकन भी कहा जा सकता है। ये सिर्फ एक टोकन ही नहीं, बल्कि आपके लिए कमाई और इंवेस्टमेंट का एक अच्छा जरिया भी हो सकता है। 

NFT का कैसे इस्तेमाल किया जाता है? 

NFT का इस्तेमाल डिजिटल असेट्स या ऐसी चीजों के लिए किया जा सकता है, जो दुनिया में एकदम अलग होते हैं। इससे उनकी कीमत और विशिष्टता साबित होती है। NFT की मदद से आज के डिजिटल जमाने में किसी पेंटिंग, किसी पोस्टर, ऑडियो या वीडियो को सामान्य चीजों की तरह खरीदा बेचा जा सकता है। एनएफटी किसी भी आर्टिस्ट और कंटेंट क्रिएटर्स को अपनी कीमती चीजों को मॉनेटाइज करने यानी बेचने के लिए बड़ा प्लेटफॉर्म मुहैया कराता है। मतलब अब यूनीक और कीमती चीजों की नीलामी के लिए किसी ऑक्शन हाउस की जरूरत नहीं, आप उसे एनएफटी के तौर पर नीलाम कर सकते हैं। इसका एक बड़ा फायदा ये भी है कि अगर इस एनएफटी कहीं और बेचा जाता है तो उस पर आर्टिस्ट को रॉयल्टी भी मिलती है। ठीक उसी तरह जैसे कॉपीराइट वाले किसी गाने, म्यूजिक, किताब आदि की बिक्री से किताब के लेखक को रॉयल्टी मिलती है।

कहां और कैसे बेच सकते हैं NFT ?

एनएफटी को कई जगहों पर बेचा जा सकता है। इनमें से कुछ OpenSea, Rarible, SuperRare जैसे प्लेटफॉर्म हैं। अपनी किसी चीज को एनएफटी के तौर पर बेचने के लिए पहले आपको एक वॉलेट बनाना होगा और उसमें इथेरियम क्रिप्टोकरंसी रखनी होगी, क्योंकि अधिकतर एनएफटी प्लेटफॉर्म इथेरियम पर ही बने हैं। 

वॉलेट में कुछ इथेरियम होना जरूरी है, जिससे ट्रांजेक्शन फीस चुकाई जा सके। इसके बाद आपको जो चीज बेचनी है, उसे एनएफटी मार्केटप्लेट पर डालना होगा, जिसका अधिकतम साइज 100 एमबी तक हो सकता है। अपनी एनएफटी के लिए अधिक से अधिक कीमत पानी है तो उसे तमाम जगहों पर प्रमोट जरूर करें, ताकि नीलामी अधिक से अधिक कीमत में हो सके।

NFT के खासियत।

NFTs है तो कुछ साल पहले से लेकिन महामारी काल में NFTs में दुनिया की रुचि जागी। जब आर्ट और एंटरटेनमेंट वेन्यू बंद थे, तो आर्टिस्ट और एंटरटेनर्स ने लोगों व खरीदारों से जुड़ने के नए रास्ते तलाशे। NFTs डिजिटल सामान में कुछ गुण भर देती है, 

जिससे उनकी कीमत तय करना संभव होता है। उदाहरण के लिए जो कोलाज 7 करोड़ डॉलर में बिका, उसकी खासियत यह थी कि उसमें आर्टिस्ट के विशेष ब्लॉकचेन पर किए हुए सिग्नेचर की फाइल मौजूद थी। NFTs वायरल मीम्स के क्रिएटर्स को उनके सिग्नेचर वाली कॉपी की बिक्री करने की इजाजत देती है। NFT कोड की लाइन्स से ज्यादा कुछ नहीं है। ये ब्लॉकचेन पर इसे रजिस्टर कर आर्टवर्क की यूनीकनेस को स्थापित करते हैं।

Must Read – Kya Dogecoin Ka Rate Badhega – कब बढ़ने वाला है इसकी कीमत

Conclusion. 

आज के इस महत्वपूर्ण आर्टिकल में हमने आपको बताया कि NFT kya hota hai , आखिर क्या है NFT , NFT का पुरा नाम,इसका कैसे इस्तेमाल किया जाता है ,कहां और कैसे भेज सकते हैं एनएफटी को और NFT की खासियत। इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है। 

आशा करता हूं या आर्टिकल आपको पसंद आया होगा अगर पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस आर्टिकल को शेयर करें ताकि आप जैसे अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के जरिए पता सकें। अगर आपके मन में हमारे इस लेख के लिए कोई भी सवाल या कोई सुझाव है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और हमें कमेंट कर कर यह भी बताएं कि यह आर्टिकल आपको कैसा लगा इस आर्टिकल में हमारे साथ अंत तक बने रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Previous articleCryptocurrency se kaise alag hoga RBI ka digital rupiya – जाने ये कैसे होगा
Next articleजाने क्या है Non-Fungible Token (NFT) – जाने क्या है ये