Juvvadi – भारतीय मूल के है और बने Binance लीगल टीम के हेड

 हाल ही में बाइनेंस ने Juvvadi जो कि भारतीय मूल के हैं उनको अपने लीगल टीम का हेड बनाया है। आपको बता दें कि बहुत समय बाद पिछले महीने फाइनेंस को बाहरी फंडिंग मिली थी । बाहरी इन्वेस्टर्स और बड़े-बड़े इन्वेस्टर जैसे सरकल वेंचर्स ने बाइनेंस को फंड किया था। बड़े-बड़े इन्वेस्टर से लगभग 20 करोड़ डॉलर फंड जुटाने के बाद बाइनेंस का कुल वैल्यूएशन 4.5 अरब डॉलर पार कर गया है। इस खबर के बारे में और विस्तार से चर्चा करते हैं।

Juvvadi news
Juvvadi news

बाइनेंस आज बड़े-बड़े गिफ्ट एक्सचेंज में शामिल है। बाइनेंस यूएस ने हाल ही में बड़े-बड़े देश जैसे कि दुबई और फ्रांस में भी अपना बिजनेस शुरू करने का लाइसेंस हासिल किया है। हाल ही में बाइनेंस ने भारतीय मूल के कृष्णा जूवादी को अपना वॉइस प्रेजिडेंट बनाने के लिए चुना है। इसके साथ ही बाइनेंस अपनी लीगल टीम को भी मजबूत बनाने की बहुत सारी योजनाएं बना रहा है। आपको बता दें कि कृष्णा जी वाली जो कि भारतीय मूल के हैं जिसे फाइनेंस के द्वारा वाइस प्रेसिडेंट बनाने के लिए चुना गया है वह पहले भी अमेरिका के उबर सर्विसेज देने वाली कंपनी में कंप्लायंस हेड रह चुके हैं। कृष्णा जू आदि को वाइस प्रेसिडेंट बनाने की जानकारी बाइनेंस ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिख कर दी थी।

आपको बता दें कि बाइनेंस अब बड़े-बड़े देशों में भी अपना बिजनेस शुरू करने की ओर कदम बढ़ा रहा है इसके लिए माइनस को पूरी दुनिया में चलाने वाली बाइनेंस ग्लोबल ने कई सारे देशों में अपनी लीगल टीम को मजबूत बनाने के लिए बहुत सारी वैकेंसी निकाली है। इसके साथ ही हाल ही में बाइनेंस एक्सचेंज ने कई सारे देशों में लाइसेंस के लिए भी आवेदन किया है। फाइनेंस के प्रेसिडेंट फाइनेंस को अलग स्तर पर लेकर जाना चाहते हैं और इसे सबसे ज्यादा लीगल लाइसेंस हासिल करने वाला क्रिप्टो एक्सचेंज बनाना चाहते हैं।

Must Read – Kto cryptocurrency – क्या है और इससे पैसा कैसे कमाए

हाल ही में पिछले महीने बाइनेंस ने अपनी पहली बारी फंडिंग हासिल की बड़े-बड़े इन्वेस्टर्स और सर्कल वेंचर्स जैसे बड़े कंपनी से लगभग $200000000 फंडिंग हासिल करने के बाद अब बाइनेंस का कुल वैल्यूएशन मार्केट में 4.5 अरब डॉलर का हो गया है।

Previous articleपुर्तगाल भी लगाएगा अब Cryptocurrency में टैक्स, बता दे कि पुर्तगाल को crypto ट्रेडिंग का स्वर्ग माना जाता है
Next articleLuna Foundation Guard के एसेट्स हो सकते है दक्षिण कोरिया में जब्त