श्रीलंका में आर्थिक संकट का असर, हफ्ते भर स्टॉक एक्सचेंज में ठप रहेगा कारोबार

पिछले कुछ समय से श्रीलंका के आर्थिक संकट के बारे में आप सभी ने टीवी न्यूज़ चैनल में देखा ही होगा। श्रीलंका में एक बहुत बड़ा आर्थिक संकट आया है जिसका प्रभाव वहां के स्टॉक एक्सचेंज में भी दिख रहा है। श्रीलंका में आर्थिक संकट की वजह से वहां का कारोबार और बिजनेस में भी इसका असर दिख रहा है। श्रीलंका के पास ज्यादा फॉरेन रिजर्व नहीं बचे हैं जिससे वहां कि सरकार अपना देश मैं विकास के लिए कोई कार्य नहीं कर पा रही हैं। श्रीलंका के ऊपर आए आर्थिक संकट का प्रभाव और वहां के स्टॉक एक्सचेंज में भी लिख रहा है और आर्थिक संकट की वजह से वहां का स्टॉक एक्सचेंज कारोबार भी अभी कुछ दिनों तक ठप रहेगा। तो आइए आगे इस विषय में विस्तार से चर्चा करते हैं।

श्रीलंका में आर्थिक संकट का असर, हफ्ते भर स्टॉक एक्सचेंज में ठप रहेगा कारोबार 99 Hindi

विस्तार

श्रीलंका में आर्थिक संकट के गहराने के बाद वहां सरकार विरोधी गतिविधियां भी तेज हो गई। लोग सड़कों पर जगह-जगह सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और प्रदर्शनकारियों का मांग है की वहां के राष्ट्रपति गोटबया राजपक्षे इस्तीफा दे। आर्थिक संकट की वजह से कोलंबो स्टॉक एक्सचेंज कारोबार 1 हफ्ते तक अभी बंद रहेगा।

श्रीलंका अभी गहरे वित्तीय एवं राजनीतिक संकट से जूझ रहा है और इसका प्रभाव वहां के शेयर बाजार में भी बहुत दिख रहा है। श्रीलंका के प्रमुख शहरों में से एक कोलंबो जहां का स्टॉक एक्सचेंज कारोबार अभी अगले हफ्ते तक बंद रहेगा। इसकी जानकारी श्रीलंका प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग (एसईसी) ने बयान जारी कर के दी।

 वहीं आपको बता दें कि 18 अप्रैल से लेकर 22 अप्रैल तक कोलंबो का शेयर बाजार के कारोबार अभी अस्थाई तौर पर बंद रहेगा। वहां के एसईसी ने कहा कि निवेशकों को बाजार के बारे में अधिक स्पष्टता और समझ पैदा करने के लिए मौका देने के इरादे से ये फैसला लिया गया है।

आपको बता दें कि कोलंबो स्टॉक एक्सचेंज के डायरेक्टर मंडल ने एक दिन पहले एसईसी से कारोबार को अस्थायी तौर पर बंद करने का अनुरोध किया था। उन्होंने इसके लिए श्रीलंका की मौजूदा हालत और वहां पर आर्थिक संकट को इसका कारण बताया था। एसपीओ नया फैसला वहां की मौजूदा हालत और श्रीलंका पर गहराई आर्थिक संकट को देखकर और लोगों के बीच सरकार के खिलाफ प्रदर्शन को देखकर यह फैसला लिया था। आर्थिक संकट आने की वजह से श्रीलंका में राजनीतिक स्थिरता भी बहुत तेजी से बढ़ रही है।

श्रीलंका में आए आर्थिक संकट की गहराई का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि वहां की सरकार के पास ईंधन एवं रोजमर्रा के सामान खरीदने के लिए भी जरूरी विदेशी मुद्रा की भारी कमी हो चुकी है। श्रीलंका में हालात भी बहुत बिगड़ चुकी है।हालत यह हो गई है कि श्रीलंका सरकार ने विदेशी कर्जों के भुगतान को स्थगित कर दिया है।

Conclusion:-

दोस्तों आपको यह हमारा ये लेख अगर पसंद आया हो तो इसे अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें और कमेंट में बताएं कि हमारा यह लेख आपको कैसा लगा।

धन्यवाद

Previous articleStock Market -आज बिकवाली के मूड में दिख रहा मार्केट, निवेश से पहले इन फैक्‍टर्स पर जरूर रखें निगाह
Next articleअभी और गिर सकता है Paytm Share, एक्सपर्ट दे रहे हैं दूर रहने की सलाह