Ethereum kab launch hua tha in Hindi?

जब आप क्रिप्टो करेंसी की बात करेंगे तो सबसे पहले जो सवाल आपके दिमाग में आएगा वह उस क्रिप्टो करेंसी को जानने के बारे में होगा। बिटकॉइन सबसे प्रचलित क्रिप्टो करेंसी है लेकिन जब आप क्रिप्टो करेंसी के संदर्भ में और अधिक जानकारी जानने का प्रयास करेंगे तो आपका सामना एथेरियम से भी होगा। इस सवाल को सुनने के बाद आप एथेरियम के बारे में अधिक जानकारी जानने का प्रयास करेंगे तो ethereum kab launch hua tha यह भी जानना अनिवार्य हो जाएगा यह एक ऐसा क्रिप्टो करेंसी है जो बिटकॉइन के बाद लांच हुआ और काफी जल्दी पूरे विश्व भर में प्रचलित हो गया। 

आज बहुत सारे लोग एथेरियम में अपना पैसा निवेश करते हैं ताकि वे अधिक से अधिक पैसा कमा सकें मगर बहुत कम लोगों को पता है ethereum kab launch hua tha आपको भी इस के संदर्भ में जानकारी होनी चाहिए ताकि आप अच्छा पैसा कमा सके और इसके बारे में पूर्ण जानकारी रखें। 

ethereum kab launch hua tha

Etherium क्या है?

सबसे पहले आपको यह जानने की आवश्यकता है कि इथरियम क्या है। आपको बता दें कि यह एक क्रिप्टो करेंसी है जिसका दूसरा नाम इथर भी है। 2013 में वातालिक नाम के एक व्यक्ति के द्वारा इसकी खोज की गई थी बाकी क्रिप्टो करेंसी की तरह यह भी एक प्रचलित क्रिप्टो करेंसी है जिसका मुख्य काम पूरे विश्व को एक मुद्रा से लेनदेन करने की सुविधा प्रदान करना है। 

इथरियम एक प्रचलित क्रिप्टो करेंसी है यह कनाडा में सबसे पहले शुरू हुआ था काफी जल्दी पूरे विश्व भर में यह प्रचलित हो गया बिटकॉइन के बाद सबसे अधिक अगर किसी क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल किया जाता है तो वह इथरियम है। अगर हम निवेश की दृष्टि से बात करें तो केवल इतना समझ लीजिए कि अगर आप ने 2015 में अपना पैसा एथेरियम में निवेश किया होता तो अब तक आपका पैसा लगभग 7000 गुना बढ़ चुका होता। इससे इतना तो साफ है कि आपको इस क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना चाहिए मगर यह कैसे काम करता है और किस प्रकार इसकी शुरुआत हुई यह नीचे बताया गया है। 

Ethereum kab launch hua tha

इथरियम को सबसे पहले वातालिक नाम के कनाडा के एक व्यक्ति ने शुरू किया था। 2013 में इस व्यक्ति ने एक नई बिटकॉइन की नींव रखी 2009 में जब सतोशी नाकामोतो ने बिटकॉइन को प्रचलित किया तो लगभग हर किसी को बिटकॉइन की ताकत का अंदाजा होने लगा 2013 में जब एथेरियम की नींव रखी गई तो यह उतना प्रचलित नहीं हो पाया धीरे-धीरे 2017 में हमने पूरे विश्व में अपने पांव पसारे और आज प्रचलित क्रिप्टो की गिनती में दूसरे स्थान पर आता है। 

2009 में जब बिटकॉइन लांच हुआ तो उसका मुख्य मकसद दुनिया भर में केवल एक मुद्रा से हर किसी का लेनदेन पूरा करना था धीरे-धीरे इसमें कोई रेगुलेटरी बॉडी ना होने के कारण इसका इस्तेमाल गैरकानूनी काम में होने लगा। मगर इसकी एक मात्रा निश्चित कर दी गई थी इस वजह से जब इसकी मांग बढ़ी तो इसकी कीमत भी बढ़ने लगी निवेश करने वाले लोगों की आंखें खुल गई और क्रिप्टो करेंसी निवेश करने का एक नया जरिया बन गया। 

2010 से लोग क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने लगे मगर उस वक्त कोई भी ऐसा क्रिप्टो करेंसी नहीं था जिसे पूरे विश्व भर में लोग जानते हो, शिवाय बिटकॉइन के। इस वजह से कनाडा के रहने वाले वतालिक के दिमाग में एक ख्याल आया की क्यों ना एक नया क्रिप्टो करेंसी बनाया जाए जिसकी मांग पूरे विश्व भर में बिटकॉइन से भी अधिक हो इस वजह से 2 साल की कड़ी मेहनत के बाद इस व्यक्ति ने 2013 में एथेरियम की नींव रखी। शुरुआत में या क्रिप्टो करेंसी अधिक प्रचलित नहीं हो पाया मगर 2017 आने तक पूरे विश्व में लोग इसे पहचानने लगे और इसमें अपना पैसा निवेश करने लगे। अगर आप ने 2017 में एथेरियम में अपना पैसा निवेश किया होता तो इस वक्त आपका पैसा 6000 गुना बढ़ चुका होता।

एथेरियम कैसे काम करता है?

जैसे कि हमने आपको बताया यह एक प्रचलित क्रिप्टो करेंसी है इस वजह से यह भी बाकी क्रिप्टो करेंसी की ही तरह काम करता है इसका टेक्नोलॉजी भी पूरी तरह से ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर निर्भर करता है। अलग-अलग क्रिप्टो करेंसी में अलग-अलग प्रकार के ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को रखा गया है इसकी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी काफी जटिल रखी गई है जिस वजह से हम यह कह सकते हैं कि यह क्रिप्टो करेंसी पूरी तरह से सुरक्षित है। 

इस क्रिप्टो करेंसी की भी काम करने की प्रक्रिया बाकियों की तरह है जिसे हम blockchain Technology कहते है और इस टेक्नोलॉजी के तहत जब आप अपना कोई भी एथेरियम खरीदते हैं तो उसकी पूरी एक चेन बनाकर स्टोर कर ली जाती है जिससेे यह करेंसी सुरक्षित हो जाती है। उदाहरण से अगर इस बात को हम स्पष्ट रूप से समझाएं तो पाएंगे की अगर आप कोई भी एथेरियम खरीदते हैं तो उसकी एक जानकारी नोट की जाती है इस अनुसार सबसे पहली बार जिसने खरीदा था से लेकर अभी तक जिसने खरीदा है हर चीज की जानकारी को एक लिस्ट के रूप में रखा गया और इसे ब्लॉकचेन कहा गया। 

इस तरीके की मदद से आप बीच में चोरी चकारी नहीं कर सकते और क्रिप्टो करेंसी पूरी तरह से सुरक्षित रहती है। उम्मीद करते हैं इसके साथ आप यह समझ गए होंगे कि एथेरियम कैसे काम करता है और इसकी पूरी प्रक्रिया कैसे आगे बढ़ाई जाती है साथ ही 2013 में लांच किया गया और किस प्रकार 2017 तक यह पूरे विश्व भर में प्रचलित हो गया और आज के जमाने में दूसरा सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टो करेंसी बन कर सबके समक्ष खड़ा है। 

निष्कर्ष 

उम्मीद करते हैं ऊपर बताई गई सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद समझ गए होंगे की ethereum kab launch hua tha और किस प्रकार किया पूरी दुनिया का दूसरा सबसे प्रचलित क्रिप्टो करेंसी बन पाया अगर इस लेख से आपको इस तरह की जानकारी को समझने में लाभ हुआ है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझाव और विचार कमेंट में बताना ना भूलें। 

Previous articlenivesh karne ke liye sabse accha cryptocurrency in Hindi
Next articleCryptocurrency game kya hai – Best crypto games