चीन में क्रिप्टो के बाद NFT पर भी सख्ती कर रही सरकार

चीन की सरकार ने कुछ दिन पहले क्रीपटो के ख़िलाफ़ सख्त कानून लाया था।जिसके बाद क्रिप्टो निवेशक काफी चिंतित थे। अभी हाल ही में चीन की सरकार ने एनएफटी पर भी सख्ती बरत रही है। चीन के सबसे बड़े बिजनेस कंपनी अलीबाबा से जुड़े Ant Group के डिजिटल कलेक्शन प्लेटफॉर्म WhaleTalk की यूजर पॉलिसी में भी बदलाव किया गया है और ओवर-द-काउंट NFT ट्रांजैक्शंस को अपराध करार दिया गया है।

चीन में क्रिप्टो के बाद NFT पर भी सख्ती कर रही सरकार 99 Hindi

खास बाते

  • हाली के पिछले कुछ महीनों में एनएफटी से संबंधित काफी धोखाधड़ी के मामले सामने आए हैं
  • आपको बता दें कि पिछले वर्ष एनएफटी की सेल लगभग 25 अरब डॉलर की थी।
  • एनएफटी में यूनिक आइटम के टोकन को ऑथेंटिकेट किया जाता है।

वही आपको बता दें कि पिछले वर्ष चीन की सरकार ने क्रिप्टो पर सख्ती कर दी थी। अब आ भी खबर यह आ रहा है कि वहां की अथॉरिटी ने अब नन फंजीबल टोकन एनएफटी पर भी सख्ती कर रही है ।चाइना इंटरनेट फाइनेंस एसोसिएशन चाइना बैंकिंग एसोसिएशन  और सिक्योरिटीज एसोसिएशन ऑफ चाइना का उद्देश्य NFT की खरीद और बिक्री को लेकर जागरूकता बढ़ाना है। चीन की सरकार ने फाइनेंसियल और सिक्योरिटी ऑर्गेनाइजेशन ने एनएफटी से जुड़ी वित्तीय जोखिमों के खिलाफ चेतावनी दी है।

पिछले वर्ष चीन में क्रिप्टो करेंसी को और इससे जुड़ी सभी करेंसी को गैरकानूनी करार दिया गया था और दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन के माइनिंग पर भी प्रतिबंध लगा दिया था। उनका कहना है कि यह सभी चीजें ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर काम करती है जोकि एनएफटी को बढ़ावा देना चाहती है।Bitcoin, Ether और  Tether जैसी क्रिप्टोकरेंसीज के पेमेंट के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल को लेकर इनकी आशंका बरकरार है। इन ऑर्गेनाइजेशन का कहना है कि एनएफटी का उपयोग money-laundering जैसी गैर कानूनी गतिविधियों के लिए नहीं होना चाहिए।

पिछले वर्ष जब चीन के द्वारा क्रिप्टो करेंसी के माइनिंग को गैरकानूनी करार दिया गया था उस समय एनएफटी को लेकर उनकी कोई अंतिम फैसला नहीं आई थी जिसमें कि उन्होंने बताया हो की एनएफटी पर सरकार का फैसला क्या होगा।लेकिन पिछले महीने चीन लोकप्रिय चैटिंग ऐप WeChat ने अपनी सर्च से Xihu और Dongyiyuandian जैसे लोकप्रिय NFT प्लेटफॉर्म्स को हटा दिया था। वही आपको बता दें कि क्रिप्टो एसएस का ट्रेडिंग बढ़ाने में एनएफटी का बहुत बड़ा रोल है। पिछले वर्ष एनएफटी की सेल्स लगभग 25 अरब डॉलर के पार तक गई थी।

उनका कहना है कि एनएफटी में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी यूनिक आइटम्स के टोकन को ऑथेंटिकेट किया जाता है जो द्वारा प्रोड्यूस किए जाने वाले डिजिटल एसिड से जुड़े होते हैं। इसकी ऑनलाइन ट्रेडिंग की जा सकती है पर इसका डुप्लीकेट नहीं किया जा सकता। वही आपको बता देगी एनएफटी किस सेल्स में बढ़ोतरी तो हुई है इसके साथ ही इससे जुड़े इस टाइम में भी बहुत तेजी आई है। ऐसे मामलों में एनएफटी से जुड़ी हुई लोगों को काफी नुकसान उठाना होता है। कुछ दिन पहले अमेरिका में इससे संबंधित बहुत बड़े धोखाधड़ी का खुलासा हुआ है।

Conclusion:

अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर।

धन्यवाद

Previous article क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट, बिटकॉइन, शिबा, डोज़कॉइन सब गिरे
Next articleShare Market Closing: सेंसेक्स 708 अंक उछला, 17600 के पार बंद हुआ निफ्टी