बहुत चुनौतियों के बावजूद Blockchain gaming कैसे इतना आगे बढ़ रहा 

Blockchain सिस्टम पर आधारित cryptocurrency जैसे बिटकॉइन और etherium आज पूरी दुनिया में पॉपुलर हो रहे है।आज Blockchain gaming भी इसके वजह से बहुत पॉपुलर हो रहा ।

यह वैसे खिलाड़ियों को इन गेम के एसेट्स का ओनरशिप प्रदान करता है जिन्हे कैश किया जा सकता है और फिएट मनी (सरकार के द्वारा जारी की गई मुद्रा जो सोने जैसी वस्तु द्वारा समर्थित ना हो) में परिवर्तित किया जा सकता हैं। इसमें गेम अपने एसेट्स को एक ब्लॉकचेन से दूसरे ब्लॉकचेन में ट्रांसफर भी कर सकते हैं। यह सारे गेम प्ले टू अर्न मॉडल पर आधारित है जिसके वजह से गेमर्स यहां अपने बिताए गए समय को मोनेटाइज करके पैसे कमा सकते हैं। ब्लॉकचेन गेमिंग में अचानक से उछाल आने का ये बहुत बड़ा कारण है और शायद इसके वजह से ही इतने सारे चुनौतियों के बावजूद ब्लोकचैन gaming बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है।

ब्लैकचैन गेम की एलायंस की 2021 की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस इंडस्ट्री का तीसरी क्वार्टर लगभग 2.3 बिलियन डॉलर का था। आपको बता दे की इस तीसरी क्वार्टर में सबसे ज्यादा कारोबार करने वाली लगभग 22 प्रतिशत NFT ब्लॉकचैन गेम के एसेट्स थे।इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह आने वाले वर्षो में इस संभावित बाजार पर टैप करेगा। आनेवाला दिनों में web 3 का भविष्य बहुत उजागर है।

बहुत चुनौतियों के बावजूद Blockchain gaming कैसे इतना आगे बढ़ रहा 

सवाल यह है कि आखिर Web3 को web2 से क्या अलग करता है विपिन की खासियत क्या है।

वैसे गेम्स जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के अंतर्गत नहीं आते हैं यह गेम्स पूरी तरह से गेम डेवलपर्स एक के कंट्रोल में रहते हैं और इन्हें हम वेब2 गेम्स के नाम से जानते हैं। यह सारे गेम्स में कुछ लिमिटेशंस होते हैं जिसकी वजह से web2 गेम web3 के मुकाबले में पिछड़ रहे हैं।

बात करें वह फ्री गेम्स की तो यह खिलाड़ियों को web2 के मुकाबले बॉस एंड नए फीचर्स देता है। वेब 3 गेम्स का एक सबसे बड़ा फीचर्स है कि यह खिलाड़ियों को खेल के साथ-साथ पैसे कमाने का भी प्लेटफार्म देता है । खिलाड़ी अपने गेम्स को मोनेटाइज करके पैसे कमा सकते हैं।

बिट्टू के मुकाबले web3 गेम्स बहुत तेजी से आगे बढ़ तो रहे हैं पर अभी भी इसमें कुछ चुनौतियां हैं। वेब फ्री गेम्स ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित है जिसके ऊपर क्रिप्टो करेंसी भी आधारित है यह पूरी तरह से डिसेंट्रलाइज्ड है और यह किसी के कंट्रोल में नहीं होता है। जिसकी वजह से अभी भी बहुत सारे लोग इसे पूरी तरह से एक्सेप्ट नहीं करते हैं।

Conclusion

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आपको हमारा ही यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसे आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करेंगे।

Previous articlecryptocurrency kis desh se suru hua hai
Next articleApe NFT चाहते है? एथेरियम में आपको लगभग $430000 लगेंगे।